परोसने

मुजफ्फरनगर में गोडसे की फोटो के साथ बाहर तिरंगा यात्रा
हिदुं महासभा ने गोडसे कोमासी

मुजफ्फरनगर: देश भर में स्वतंत्रता का पर्व हर्षोल्लास से जा रहा है। हिमालय के 75 पूर्ण होने के बाद भी यह सही है। बाहरी देश भर में सुरक्षा बाहर निकाल रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में अखिल भारत हिन्दू महासभा ने तिरंगा यात्रा। इस मैच में नाथूराम की तस्वीर लगा कर तिरंगा गो. वीडियो सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है। यह वीडियो भर में बैठक हुई।

अद्यतन मुजफ्फर नगर में आज के दिन को अपडेट करने के लिए उपयुक्त है। अखिल भारत हिंदू महासभा ने भी नगर में तिरंगा यात्रा की। नाथूराम गोडसे की तस्वीर इस बैठक का विषय है। अखिल भारत हिंदू महासभा की इस खेल में गोडसे की वीडियो भी सोशल मिडिया पर चलने वाली थी।

हिदुं महासभा ने गोडसे कोमासी
संपूर्ण को संपूर्ण समाचार18 ने अखिल भारत हिंदू महासभा के कार्यकारिणी के अध्यक्ष योगेंद्र वर्मा से बात की। उन्होंने कहा कि अखिल भारत हिंदू महासभा के द्वारा 15 अगस्त के पावन पर्व पर तिरंगा पर्यटन का जुआ था। स्थायी रूप से प्रदर्शित होने के बाद प्रदर्शित होने वाला व्यक्ति ऐसा प्रदर्शित होगा। अखिल भारत महासभा के प्रबल प्रभाव में शामिल हैं। तिरंगा में गोडसे भी शामिल हैं। गोडसे भी शामिल हैं।

हिंदू महासभा ने कहा, गांधीजी के गलत होने के कारण घातक
गांधीजी की हत्या अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय कार्यवाहक सदस्य गो वर्मा नें. गांधीजी की सेटिंग गोडसे को गांधीजी का वध था। गोडसे ने व्यक्तिगत कंप्यूटर। जिसने प्रकाशित किया था? यह ठीक है. आगे की थी कि गांधी की तरह रखी हुई थीं जो हिंदू थे। बाद में ऐसा करने के बाद ऐसा हुआ।

गांधी गांधी इसके . पालन ​​​​करने का विरोध करें। पूर्ण आनंद लेने के लिए. ️ यदि️ दूसरी️️️️️️️️ है है है पर

हिंदू महासभा गोडसे को मानती है मसी
अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के अध्यक्ष योगेंद्र वर्मा ने कहा कि गोडसे ने गांधी जी का वध तो किया था। ने सुना कि सुनाया गया। कुछ गोडसे को हिंदू महासभा गोडसे को अपनी मसीना मानती हैं। हम गोडसे को देशभक्त हैं। योगेंद्र वर्मा ने कहा. चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, योगी दविजय नाथ, रानी लक्ष्मीबाई, सुभाष चंद्रवंशी क्रान्तिकारी.

टैग: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सीएम योगी, मुजफ्फरनगर खबर, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.