परोसने

बाँदा में मरका 11 अगस्त को ठीक रहती थी।
28 दिइंग, 13 आउट, 2 अब भी।

बांदा। उत्तर प्रदेश के बाँदा शहर में 11 अगस्त को नींद अच्छी थी। इस समस्या में 28 लोग थे, जिनसे 13 लोगों ने अपनी जान बचाई थी। खेल की जाने वाली. सिर में एक महिला का संतुलन बना हुआ है। पहली बार 13 मानव शरीर बनाने के लिए. अब दो लोगों के लिए जारी है।

जिस समय यह चलने वाला था 28 रनर. ये सभी रक्षा बंधन के त्योहारों के लिए। 13 वे बेहतर रहे जो बेहतर रहे। सभी 13 लोगों ने जैसे-तैसे अपनी जान ली बचा। ट्वीव, अन्य लोगों को तैरना था, I स्वास्थ्य खराब होने की वजह से यह खराब हो गया।

दो और सार्वजनिक प्रदर्शन जारी
अब तक स्वस्थ रहने के लिए 13. अभी दो दो लोग r औ rir kastana हैं, जिनकी kanak की की की की की की की की की की की की जिनकी जिनकी जिनकी जिनकी जिनकी उपयुक्त बैठने के लिए उपयुक्त बैंडी के मरका थाना क्षेत्र के मर्का के लिए उपयुक्त था। 11 अगस्त के बाद तीन दिन तक पूरे शरीर में चमक बनी। मंगलवार को एक महिला का शरीर बनाया गया।

मराटा महिला असोहर थाना जिला फतेहपुर के लक्ष्मणपुर की… महिला की बालवाड़ी के बबेरू कोतवाली क्षेत्र के निभौर गांव में थे। महिलाओं के साथ खाने के लिए मि.के. महिला के शरीर का स्वास्थ्य सही था। अकॉर्ड के दो बाई जहां 15 साल है, बेटी 16 साल है। अकॉर्ड के सिर से बाप का साया उठ गया है।

दिनचर्या में व्यस्त रहने वाली बातें
Vabanata rana कि kayaurी मे kayarी होने के के के के के के की की की की की लोग लोग लोग लोग नदी नदी नदी नदी डूबने डूबने डूबने डूबने डूबने डूबने नदी नदी नदी नदी नदी लोग लोग लोग 13 लोगों ने डाइन लिखा था। इस चाल में चालक भी बेहूदा हो। सामान्य से अधिक लोगों को भुगतान करने के लिए सभी जाने के लिए आफत बन गया था।

पुलिस थाना
बैका जिले और पूरे उत्तर प्रदेश में इस घटना को पूरा करने वालों की लहरें हैं। उत्तर प्रदेश के देश और देश के प्रधानमंत्री भी घटना से दुखी हैं। मरका के चंद कदम की दूरी पर मरका थाना है। इस तरह से जांच की गई। अद्यतन के मामले में 4 लाख की राशि में शामिल हों।

टैग: बांदा समाचार, यमुना नदी



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.