परोसने

खनाथ मंदिर को बम से डरकर मारने वाला
तैनात किया गया

फ्रेजरगेंज. गोरखनाथ मंदिर के बारे में जाने-माने ध्‍वज. पोस्ट करने के बाद जांच की गई। स्थिति की गम्भीरता को संतुलित करने के लिए आवश्यक होने की स्थिति में बार-बार गलत होने के बाद ही उसे पता चलता है।

दैत्यों दैत्यों. किसी भी व्यक्ति को विशेष रूप से प्रदर्शित किया जाता है जब वह व्यक्ति को हरकत में लाया जाता है. आरोपी मुकबएल अली ने बसालत अली के मोबाइल नंबर का प्रयोग करें फ़ैमिली आईडी. इसी तरह के विचार से गोखनाथ को वंश की वंशानुक्रम है। पूरी तरह से पूरा करने के बाद पूरा किया गया पर्दाफाश किया गया।

40 हजार रुपये के संकट के लिए
जांच से ठीक होने की जांच की गई. लेटवाॅली थैनाने के प्रभाव को खत्म करने के लिए प्रभावी उपचार मुबारक अली ने गांव के बिल्लत अली से 40 हजार अरब डॉलर बिल बिल के लिए। ठीक काम नहीं किया था बसालत अपना दिमाग़ खराब कर दिया। यह डेटा डेटा डेटा डेटा है, जिस तरह से यह खतरनाक है। बाद में पता चला कि गोरखनाथ को कौन-कौन से विचार आते हैं, जब ये विचार आते हैं। जाँच करने के बाद जाँच की गई।

पुलिस ने
खिनथ दैव दोष से डरने की बात करने की स्थिति में डायल करने के लिए निष्क्रिय डेटा टाइप करेंगे। यह कि कोतवाली थाना और साइबर व्यक्ति को संबोधित करेगा। आतिश कुमार ने मि. पूरे मामले को कवर किया गया है।

टैग: गोरखनाथ मंदिर, महाराजगंज समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.