परोसने

मीटिंग में काशी प्रदेश के 20 प्रमुख संत इंप्लीमेंट।
काशी विश्वनाथ मंदिर और मुथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि विषय भी I

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश में मेघमंडल नगरी प्रयागराज में विश्व को विश्व परिषद (वीएचपी) काशी प्रदेश नियामक की बैठक बैठक। जगत गुरु वासुदेवंदन सरस्वती के अलोपीबाग में प्रवालन के बाद लॉन्चिंग सेनेटर्स ने लॉन्च किया। विहिप के अखिल भारतीय संत, चीफ अशोक तिवारी ने पूज्य संतों के कुटुंब प्रबोधन परावर्तन हिंदू समाज से अस्पृथ्वी का भाव अंतिम, हिंदू मस्तिष्क के उपाय, लव जिहाद के देवता संतों से मार्गदर्शक। ऐन्टी एल इंडियन सेन संपर्क चीफ़ अशोक ने मीटिंग में पहली बार कुटुंब प्रबोधन का . जिन पर विचार के बाद संतों ने सनातन संस्कार, संस्कृति और जीवन मूल्य को नया रूप दिया।

लोगों की पुनरावर्तक
दूसरा प्रस्ताव . उस पर मीटिंग में कहा गया था कि . विषय में अपने से दूरदृष्टिकोण और पुन: स्मरण करने वाले के पुनरावलोकन. यह कहा गया था कि लोगों के पुनरावर्तक होने और सेंटो से वे भी ऐसे ही थे। इसके α α α α ââââ । बाढ़ हिंदू समाज पहले से अधिक व्यवस्था और चुस्त दुरुस्त।

परीक्षा की जांच
इस संत पर संतों ने काशी विश्वनाथ मंदिर और मथुरा श्री कृष्ण जन्मस्थली विषय भी विचार संचार किया। इसके साथ ही दुनिया में भी इसी तरह की प्रणाली होती है। मीटिंग में काशी प्रदेश के 20 प्रमुख संत इंप्लीमेंट। सूर्य पर प्रया, काशी, सुल्तानपुर 20 से अधिक संत बैठक में उपलब्ध। विश्व हिंदू परिषद का संचार संस्थान के जानकार के जानकार के मालिक गोपाल दास जी महाराज ने की। ️

टैग: इलाहाबाद समाचार, प्रयागराज, विहिप, विश्व हिंदू परिषद



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.