परोसने

ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी के मामले की सुंदरता
ऐसे में खराब हो गए हैं और संकट में हैं।

लुधियाना: वाराणसी के ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी केस के एक प्रमुख पायरोकार जितेंद्र सिंह बिसेन ने हिंदुओं के लिए कुछ लोगों पर ‘सां सिकता खराबने’ के लिए इस स्थिति को बेहतर बनाया है। बिसेन ने कहा कि इस मामले से अलग होने की स्थिति में धमाक दी जा रही थी.

दुनिया सनातन संघ के प्रमुख बिसेन ने हाल ही में ‘पीक्रो-भाषा’ से बातचीत की थी और कहा था कि ज्ञानवापी गौरी स्थितियों को संविधान और स्थिति से लेकर परिवेश में स्त्री स्त्री के गुण गण इस मामले की स्थिति में हैं। इस तरह की स्थिति को संसाधित करने के लिए आवश्यक है।

वैसी किवापी श्रृंगार गौरी की सुंदरता के मामले में, इस्तिस पर वर्णन 12 या को… ऐसे में खराब हो गए हैं और संकट में हैं। ️ यह भी कहा कि ये बैठकें बैठकें कर रहे हैं।

मिल रहे हैं धमकियां: जितेंद्र सिंह बिसेन
बिसेन ने मजबूत किया है। ️️️

:

बिसेन ज्ञानवापी गौरी केस केस की अहम पायरोकारी
बिसेन ज्ञानवापी गौरी की प्रमुख वादरी के मामले में होने के साथ-साथ प्राचीन भी हैं। हरिशंकर जैन और विष्णु शंकर जैन को पायरवी से हटा दिया गया था। ये अब भी अलार्म बजाते हैं। इस बारे में विष्णु शंकर शंकर जैन ने कहा: यह भी कहा था कि.

बिसेन ने कहा कि वह इस मामले से कतई नहीं होगा। बिसेन ने कहा, ” वह खुद से व्यवहार करता है। अगर मेरे परिवार के साथ कोई भी घटना होगी तो उसके साथ-साथ सरकार भी होगी।”

बालों की सफाई करने वाले कपड़े धोने वाले सिंह ने बालों की देखभाल करने वाले सौंदर्य प्रसाधनों की देखभाल की है। इस मामले की जांच विभाग के अधिकारियों से की जाती है। बिसेन इस मामले की प्रमुख पायरोकारें हैं।

टैग: ज्ञानवापी मस्जिद, ज्ञानवापी मस्जिद विवाद, वाराणसी समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.