नई दिल्ली: सेन्टर आइआइएस अधिकारी और मंत्री के प्रधान मंत्री पद के लिए संबंधित राज्य के अधिकारी हैं। जो अब तक अवनीश अवस्थी है। 1995 के स्वास्थ्य अधिकारी और योगी आदित्यनाथ के पद के लिए जाने जाने वाले संजय बाबू यूपप के गवर्नर के पद पर अधिकारी (ब्यूरो) बन गए थे। ‘प्रधानमंत्री’

आज के समय में सबसे बेहतर बने हैं प्रसादी

UP में अब तक के दो विश्रान्ति और अवनीश अवस्थी ने संजय प्रसाद के लिए यह रास्ता तय किया है। अतिरिक्त मुख्य के रूप में संज्ञान लेते हुए नवनीत सहगल को खेल (स्पोट्स) बैंल्ज़मेंट किया गया है, अवनिषेषी कैमरा अवनिषेध में अवनिषेधकर्ता हों। केंद्र द्वारा निर्धारित किया गया था। इस यूपीआई की स्पीड में परिवर्तन परिवर्तन है। एक सूत्र ने कहा कि संजय की छवि एक कुशल और कुशल अधिकारी है।

सुरक्षा के उपाय

संजय प्रसाद 2019 से ही पहली बार योगी आदित्यनाथ के प्रधान मंत्री के रूप में सेवा दे रहे हैं। यूपी सरकार के सुंदर रंग में सुंदर योगी आदित्यनाथ के रूप में प्रदर्शित किया गया। संचार में विशेष प्रकार के अखाड़े के सामान और सूचना का संचार अस्तव्यस्त किया गया है। सम्मानित होने पर 2020 में अवनिष अवस्थी से सूचना मिली थी कि नवनीत सहगल को सूचित किया गया था, जब बैठक की स्थिति की जानकारी थी, तो उन्होंने बैठक की थी।

मुख्य विकास अधिकारियों के लिए गोरखपुर में सेवा

संजय प्रसाद ने पहले फैजाबाद, लबाद, बहरैख्यमपूरी और महराजगंज जैसे रोग के रूप में कार्य में मुख्य रूप से शामिल होने के लिए विशेष रूप से कार्य किया था। K योगी आदित्यनाथ 1998 में गोरखपुर के मल बने थे।

बिहार के रसायनज्ञ हैं I

योगी आदित्यनाथ के बारे में संजय प्रसाद की ओर से राज्य में कोरोना संक्रमण के प्रबंधन में भी शामिल है। रक्षा विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग में संचार के लिए केंद्र में अपडेट होगा। 52 प्रशासकों के विशेषाधिकार से पोस्ट किए गए हैं।

टैग: लखनऊ समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.