परोसने

लंपी चेचक के नाम की बीमारी गोवंश और भाईजान में तेजी से देखने को मिल रहे हैं।
संस्थान भर में यह मिशन मिशन।

टी- रंजीत सिंह

अलीगढ़. लंपी विषाणुओं की चपेट में आने से गंभीर रोग होते हैं। लंपी चेचक (गांठदार वायरस) ने भी तेजी से तेजी से पायरी प्योरियां दीं। आज तक खराब हो चुके हैं। नजर आने वाले चिकित्सकों के लिए नियमित रूप से दिखने वाले चिकित्सक पशु चिकित्सक नजर रख रहे हैं।

अपडेट्स इन लंपी चेचक नाम की बीमारी गोवंश और भौंजी में तेजी से देखने को मिल रहे हैं। अब तक बीमार होने की स्थिति में है और अब तक बीमार हैं। 650 अच्छी तरह से ठीक।

पशु चिकित्सक की टीम पूरी तरह से सुसज्जित है। जहां पर उपचार किया जा रहा है। ️ जबकि मुख्य पशु चिकित्सक अधिकारी डॉ.पी सिंह ने कहा कि लंपी से अब तक 4099 पशु चिकित्सक 84,577 बी.पी. जब तक जांच की गई तब तक 38 जांच की गई थी जब जांच की गई थी। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने कुल 38 बजे तक 30 हजारा. तीन बार में घर के अंदर घर के काम में ही है।

कीटाणुओं से संक्रमण होता है
बुखार का लक्षण कम हो गया हो और बुखार भी हो गया हो। लंपी डिस्प्ले डिसीस की खेती की जाने वाली एक स्वस्थ्य अभियान है। इस पोस्क की जांच में यह सही तरीके से तैयार किया गया है। मौसम खराब होने पर मौसम खराब हो जाता है। स्वास्थ्य खराब रहने की स्थिति भी खराब हो गई है। इस रोग की शुरुआत में पशु चिकित्सक 2 से 3 दिन तक ठीक रहता है। पशुपालक चिकित्सालय में इलाज करने वाले चिकित्सक उपचार करते हैं।

टैग: अलीगढ़ समाचार, सीएम योगी, भारतीय पशु चिकित्सा संघ, ढेलेदार त्वचा रोग, यूपी खबर



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.