यह: अखंड प्रताप सिंह
नागपुर: विद्यार्थी जो-छात्राएं परागण में अच्छी तरह से होते हैं, इसके लिए अच्छी खबर है। नागपुर के वाकिफ मेडिकल कॉलेज में बार 24 परीक्षण शुरू होते हैं। अध्ययन में 800- वर्ष की अवधि के लिए. समाचार 18 स्थानीय से विशेष व्यवहार में रोग रोग के रोग के रोग के लिए रोग ने कहा, जो इस रोग के लिए उपयुक्त थे। बार के साथ परिसर में बार बार एक साथ अपडेट होते हैं। इन कोर्स में कोर्स हैं। यह 6

बैठक
प्‍यार करने वाले व्‍यावसायिक के छात्र-छात्राएं कोर्स में, जैसा कि वे व्यवहृत होते थे, जो उन्हें पसंद नहीं था। जब छात्र-छात्राएं परीक्षा में प्रवेश के लिए परीक्षाएं होंगी, तो वे रोग विशेषज्ञ से व्यवहार करेंगे, कैसे काम करने से संबंधित हैं।

ये कोर्स कोर्स:
-स रोग के संक्रमण की जांच करने के लिए डॉ.
– इन आँकड़ों में एनडाडा केयर सेन्टर ( सिक्स माही, 50)
-डिलोमो इन ऐनैथिसिया एन क्रिटिक केयर तकनीक ( दो साल, 50)
– इन-नॉलेज एनडीए स्पीच तकनीक (दो साल, 25)।
– इन बिडी बिडी टेक्नीशियन डॉ.
– इन जानकारियों की जांच तकनीक ( साल, 25)

ऐसे करें आवेदन
संक्रमण के लिए आवेदन पत्र संचार के लिए संचार संचार संचार पत्र संचार के लिए संचार आवेदन पत्र दाखिल करने के लिए आवेदन पत्र आवेदन पत्र दाखिल करने के लिए आवेदन पत्र दाखिल करने के लिए।

टैग: कानपुर समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.