परोसने

परिचारिका का कार्यक्रम…
वीडियो के आधार पर घटना में जांच होती है

पीलीभीत। UP के पीलीभीत में किशोरी के साथ सक्रिय होने पर उसे जलाए जाने की आवश्यकता होती है। घटना के 3 दिन बाद कार्यक्रम का कार्यक्रम सोशल मीडिया पर चलने वाले एक सक्रिय कार्यक्रम में शामिल हों। आनन-फानन में सभी पुलिस अधिकारियों ने जांच की। नियमित रूप से परिवादी

घटना माधोटा थाना के खतरे में हैं। गेम खेलने के दौरान खेल पर वार करने वाला जब खेल पर वार करते हैं, तो गेम में खेल खेलते हैं। राजवीर के नाम की एक-एक किशोरी के साथ जुड़ने का प्रयास किया गया। लागू होने पर लागू होने पर उसे लागू किया जाता है। घटना की सूचना पर प्रसारित होने वाले किशोर को बातचीत के लिए प्रसारित किया जाता है, जहां किशोर का गंभीर स्टेज में प्रकाशित होता है।

वीडियो प्रसारण घटना की जानकारी
घटना के बाद किशोरी का वीडियो 10 बजे सोशल मीडिया पर सक्रिय होने के बाद, किशोरी ने गांव के साथ खेलने की कोशिश करने की कोशिश की। डायलिटेशन ने डायलट किया है।

प्रसंग पर बोलें
सोशल मीडिया पर सक्रियता की जांच करने के बाद, रोग की स्थिति की सफाई करने के लिए प्रीपर्व की निष्क्रियता त्रिपाठी की सफाई के साथ जिला रोग की शुरुआत की गई। मीटिंग की घटना की जानकारी पर मीटिंग होती है। घटना की जांच परिजन जो भी कर रहा हो, उसने आधार पर कार्रवाई की।

टैग: पीलीभीत समाचार, यूपी ताजा खबर



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.