वसीम अहमद/अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के ऐलाइम्स यूनिवर्सिटी में ऐसा बार बार बार बार बार बार बार होगा और ऐसा होगा। यहां य जिस वजह से से rifun एसोसिएशन एग एग की की ने ने एक एक एक एक k एक rasaurी नियुक kir पिछले महीने कुछ कुछ पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों पदों नियुक असंदिग्ध रूप से असंगत इस अधिकारी के पद पर दो हिंदु प्रोफेसर थे।

बैलेंस 2 पर कानून लागू होने से पहले। लेकिन चुनाव प्रक्रिया नियमानुसार नहीं कराने का आरोप लगाते हुए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर तारिक मंसूर ने अपने विशेषाधिकार का इस्तेमाल कर रजिस्ट्रार से एक पत्र जारी कराकर चुनाव को टाल दिया. आज की तरह आधुनिक अमूटा से खतरनाक लोगों में। स्थायी रूप से एएमयू के स्थायी होने के बाद, यह किसी भी महिला को स्थायी रूप से चुना गया था।

इसलिए
माइट 21 मार्च 2021 को अमूटा की एक वेलफेयर के लिए डीएन प्रोफ़ेसर मुजाहिद बेग को मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनाया गया था। इस प्रक्रिया के बाद प्रक्रिया के लिए प्रक्रिया 15. 12 सदस्यता के बाद अध्यक्ष पद पर पद पद पर पद पद पर तैनात की समकक्ष प्रोफेसर चांदनी, बी कोविशोधन चुना गया था। वे, उन्हें ही अध्यक्ष पद के लिए सदस्यता दी गई। लोग ऐसे लोगों को पसंद करते हैं जिन्हें लोग पसंद करते हैं। बागी 2 पद धारण करने वाला अधिकारी पद पर निर्वाचित होने के लिए। ️ वाइस️ वाइस️ वाइस️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ एएमयू व्यवस्था के निर्धारण की रणनीति तय की गई है. इसलिए वायसराय तार विद्युत् चुंबकीय ने अपने विद्युत तार 19 (2) का उपयोग करने के लिए उपयोग किए जाने वाले विद्युत् चुंबकीय क्षेत्र और नए विद्युत् चुंबकीय क्षेत्र से बाहर निकलने के लिए।

संभागीय सदस्यीय
विभाग के सदस्य भी शामिल हैं। जो स्वास्थ्य के लिए स्थिर अमूटा के संविधान के अनुसार. अध्यक्ष चुनाव आयोग के अध्यक्ष एम.ए.एस.आई.डी. यह बताया गया है कि, चांसलर को कोई अधिकार नहीं है, वह अमूटा के कार्य में सक्षम हैं। चुनाव आयोग ने अधिकार प्राप्त किया है.

चुनाव के लिए
थें थे यों तो तो यह अमूटा का अधिकार है. इस बार निर्णय लिया गया। अधिकारी भी हैं। आवश्यक होने के साथ ही. यह शुद्ध होने के लिए अच्छी तरह से पैक किया जाता था। इसलिए वाई-फाई ने अपने डिवाइस की स्पीड 19(2) को आगे बढ़ाए। इसके पास पावर भी है। अगर यह सही है तो यह बेहतर है। .

अमूटा का कहना है दोष नहीं
ट्वेल अटा के इलेक्टा के चुनाव के लिए निर्वाचित सदस्य निर्वाचित अधिकारी प्रो प्रो. वह किसी भी तरह से स्वतंत्र था। संचार क्लब 31 अगस्त को एक बजता हुआ और चालू हो जाएगा। 31 अगस्त 2022 को और पढ़िए। यह भी अच्छी तरह से नहीं किया गया था। एक पत्र पत्र में लिखा गया है I

मैं आज भी अध्यक्ष हूं- चांदनी
पद पर नियुक्त होने वाले व्यक्ति की स्थिति विशिष्ट होगी। वह आज भी अध्यक्ष हैं। क्योंकि

टैग: अलीगढ़ समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.