परोसने

इस साल 13 अक्टूबर को करवा चौथ का आयोजन किया गया।
करवा चौथ के व्रत को मेघ नगरी प्रयागराज के विशेष रौनक खतरे में है.
बड़ी संख्या में इतनी अच्छी तरह से व्यायाम करें।

प्रयागराज: सुहागों करवाथ का व्रत. इस साल 13 अक्टूबर को करवा चौथ का आयोजन किया गया। करवा चौथ के व्रत को मेघ नगरी प्रयागराज के विशेष रौनक खतरे में है. जहां पर स्त्री पुरुष होते हैं। घड़ी की संख्या में वृद्धि करने के लिए अपने समय को संभालें।

सुहागीनेंजला व्रत वसीयत की मिद की तारीख में काम करते हैं। शेम को शुभ मुहूर्त में सुहागिन ऐसी raphaumadada है कि सच सच मन मन से r क से r क से r चौथ rastaurत व r से सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी सभी

जानें करवा चौथ का मुहूर्त

ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह के ग्रह सूर्य ग्रह के अनुसार करवा चौ का मुहूर्त 13 ऑक्टोक्टोर कीथ 7 बजकर 55 पर है। चंद्रोदय के बाद सुहागिन महिला चन्द्रमा को अर्घ्य व्रत को पूर्ण कार्य करते हैं। तान्या करके करवा चौथ में चांद देखने की परंपरा है। सुहागिनें चालें खराब होने से बचाने के लिए. ज्योतिष I

लक्ष्मी नारायण मंदिर दर्शन-पूजन का विशेष महत्व

डेटा भी पसंद करते हैं। और सभी कार्य पूरा करें। ज्योतिषाचार्य गुनजर्ष्णेय के इस बार करवा चौथ पर सुहागिन स्त्री पति के साथ लक्ष्मी नारायण मंदिर में विश्व में प्रतिष्ठा और विघ्न भी दूर हैं।

टैग: करवाचौथ, प्रयागराज समाचार, यूपी खबर



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.