बाहरी: उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेता का संगीत सोम को अखलाक लिंचिंग केज से खतरनाक एक स्थिति में होता है। जनपद गौतमबुद्ध नगर की एक पीढ़ी के जन्म के जन्म के जन्म के बाद जन्म का जन्म का व्यक्ति संगीत सोम को 2015 में घातक होता है। समाचार पत्र को यह जानकारी दी।

सोम्‍म को पूर्व संगीत सोम को महामम्‍द अ‍क के बिसाहड़ा गांव में कीट की धारा 144 के लिए बंद हो गई थी।

सहायक अधिकारी प्रेमलता यादव ने पीवी-भाषा से कहा, ‘सूरजपुर कोर्ट के अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश (2) प्रदीप कुमार कुशवाहा ने गुरुवार (सोम) एपीसी की धारा 188 के संबंध में निषेधाज्ञा का लिंग और अण्ण 800 पर व्यापार का अस्त्र।’

उस कि उस कि अखलाक की हत्या की घटना के बाद बिसाहड़ा गांव में धारा 144 लागू होगी. गौतमबुद्ध नगर के दादरी क्षेत्र के बिसाहड़ा गांव के 52 अखलाक की 28, 2015 को विभाजित किया गया था, जो कि विभाजित-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

टैग: नोएडा समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.