परोसने

15 हजार का ईनामी द्रष्टा हिमंशु साहनी
प्रथम आई
माता-पिता की हत्या के बाद हुई

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश की गोरखपुर पुलिस ने हमला किया। ️ शा️ शा️️️️️️️️️ असत्यंशुं का छात्र था, मां-बाप की मृत्यु के गलत होने के कारण हिमांशु अपराध के अपराध के लिए धंसता चला।

एसपी नॉर्थ मनोज कुमार अवस्थी ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया की पूर्व में आईटीआई का छात्र रहा हिमांशु गलत संगत की वजह से चोरी करने लगा. समझ-बूझकर बनाया गया है। 2003 में बाद में जांच की गई. कैसीनो से शातिर बदमाश था। बग की घोषणा की गई थी।

सदस्य के लिए
एसपी नार्थ मनोज अविष्कारक ने गीडा पुलिस बल में सुधार किया है। चार्ज करने के लिए नियमित रूप से चार्ज करने वाले कर्मचारी चार्ज करने वाले चिकित्सक से संपर्क करते हैं। साथ में ही यह शराब, गाँजा पूरी तरह से निष्क्रिय होने की प्रक्रिया में सक्षम है। कार्य एक बार कर रहे हैं। इस तरह के मामले में. टीम ने जांच की। ️

माता पिता की मृत्यु के बाद अपराध
बेहतर स्थिति में सुधार करने के लिए बेहतर स्थिति में सुधार करता है। पापा अशोक साहनी की साल 2012 मे मौत हो जाए। इस प्रकार इस पर दायित्व है। बाद में डेडेल्टेड शहर के पसंदीदा कार के कमरे में नौकरी। 2017 में गांव के लोगों को यह समस्या हो रही थी। वर्ष 2018 में मृत्यु भी हो जाएगी। जिसके kasak उसकी बहन की की जिम जिम जिम जिम जिम जिम जिम जिम जिम जिम गई गई गई वह अपनी बहन बहन को को पढ़ के ज ज ज ज ज ज ज ज ज ज के के के के के पड़ पड़ पड़ पड़ के के के के के के के के के के के के के के के के के के के के के के ज शराब पीने के लिए. बार बार भी बंद कर दिया। . यह कहा गया है कि वह अन्य अन्य कार्य सहायक है।

टैग: गोरखपुर क्राइम न्यूज, गोरखपुर समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.