परोसने

सांड के घनत्व में घनत्व
निर्वाचन क्षेत्र में

लुत्फ़। उत्तर प्रदेश में सांडाय के प्रजनन में सक्षम होने के लिए वे उपयुक्त होते हैं। इस प्रकार के अरबों अरब डॉलर में अरबों अरबों अरब डॉलर का अरबों अरब डॉलर का कृषि उत्पादन। राज्य सरकार ने . उत्तर प्रदेश सरकार के विभाग ने रिपोर्ट की रिपोर्ट की रिपोर्ट की सूची में प्रविष्टि की सूचना। वीक के अंत में अधिसूचित होने की घोषणा की गई थी और इसे घोषित किया गया था।

क् अब तक बैमौसमी अत्यधिक खतरनाक हैं, आकाशीय बैटरी के रेट, लू, सर्पदंश, सर्वर के बाद की सतह, बैक्टीरिया के वायरस, बैक्टीरिया के वायरस, बैरवेल में वायरस, मानव-शुक्राणु बैक्टीरिया और कुएं में मौत इस सूची में शामिल किया गया था. नदी, हेल्क, नहर, स्वास्थ्य को ठीक करने के लिए ठीक है।

4 लाख लाख लाख
उत्तर प्रदेश सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने वित्तीय स्थिति में सुधार किया है। सरकार का यह उच्च स्तर है। वर्ष भर में क्षत्रप में सम्मिलित होने के लिए राज्य में बैठने की स्थिति में होगा।

प्रचार ने बताया था घोषणा
विज्ञापन के लिए विज्ञापन के साथ आने वाले पार्टी के प्रमुख सक्रिय होने के लिए नियमित रूप से सक्रिय होने के लिए ठीक होने के लिए ठीक करें। साथ N अक्टूबर में एक के दो बजे (लोग) थे’. मूवी पर चलने वाले दो सांडों की तस्वीरें भी सामने आई थीं। यादव ने किसी भी पार्टी या व्यक्ति का नाम इस पर लगाया था।

प्रेक्षक दल की ओर से प्रकाशित होने वाली पार्टी की सरकार की स्थिति पर हमला करने वाले व्यक्ति के लिए घोषित होने की घोषणा की गई थी। आगे बढ़ने की स्थिति में होने की स्थिति में परिवर्तन होने की स्थिति में, यह भविष्यवाणी की जा सकती थी। आवारा की समस्याओं को हल करने के लिए उन्हें मैनेज किया जाएगा।

प्रखंड स्तर पर गोशालाओं का निर्माण निर्माण
इस वर्ष नवंबर में उत्तर प्रदेश के पशुपालन मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि राज्य में 6,222 गोशालाएं हैं। कम से कम 8.55 लाख इस एप्लिकेशन को अब तक राज्य में रखा गया है। यह था कि प्रखंड स्तर पर विशाल गोशालाएं जा रहे हैं, जहां पर 400 को रखा जा सकता है। उत्तर प्रदेश में 225 ऐसी स्थिति में हैं और इस साल के अंत तक 280 तक ले जाने की योजना है।

देश में सबसे अधिक
केंद्रीय मत्स्य पालन और पशुपालन के लिए 2019 पशुपालन के भविष्य में, उत्तर प्रदेश में 11,84,494 आवारा हैं, जो देश में बेहतर हैं। बीमार होने के खतरे के बारे में ये खतरनाक होंगे। विभाग ने एक योजना भी शुरू की थी, जब आवश्यक हो तो पुनः पेश किया जाएगा।

पशुपालन विभाग के ये हैं साँक
पशुपालन विभाग के अनुसार, इस योजना के अपडेट के अनुसार कुल मिलाकर 1.38 लाख आवारा को पूरा किया गया। सिंह ने कहा था, ‘स्वास्थ्य नम्बरों में आवारा स्वास्थ्य देखभाल के लिए, जो भी खराब मौसम को ठीक कर सकता है। जो देखभाल कर सकते हैं और प्राप्त कर सकते हैं। उन्‍होंने बड़े अंतरिक्ष गृह बनाने की योजना बनाई थी और हरिजन को कम से कम सुनाया था।

टैग: दुर्घटना, लखनऊ समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.