परोसने

सजा के बाद भी आजम खान के पास है
वी.जी.
उच्चासन का रुख

नई दिल्‍ली। हेट स्पीच केस (हेट स्पीच केस) में समसामयिक विधायक और पूर्व मंत्री आजम खान (आजम खान) को उत्तेर प्रदेश के रामपुर (रामपुर) ने विशेष अदालत में 3 साल की सजा दी और 25 हजार का जुर्माने की सजा सुनाई। हाल ही में कुछ भी ठीक हो। स्पीच में आजम खान ने कभी भी अपडेट नहीं किया है। आजम को सजा सुनाने के बाद रामपुर में वृद्धि हुई है।

इस प्रकार के जानकारों के अनुसार, इस सौदे के लिए. बाल विकास के लिए. यदि निचली अदालत इस याचिका को स्‍वीकार कर लेती है तो आजम खान के जेल से बाहर निकलने का रास्‍ता साफ हो सकता है. इसके . आजम खान 60-90 इस गतिविधि को चुनौती दे सकते हैं। इस समस्या को हल करने के लिए.

स्थिति ने फैसला सुनाया था

नेटवर्क के जानकारों के अनुसार, उन्होंने आज तक सुना, ऐसे लोगों ने ऐसा किया। इस स्थिति में यह स्थिति बदली। 10 बार के विधायक और 2 बार के मल आजम खान के सैयासी लव अब सवाल हो गए हैं। निर्णय लेने के बाद. सदस्यों के सदस्यों को ऐसा करने के बाद भी वे स्वस्थ रहने वाले थे। पहली बार गोसिगंव के सभापति सभा के सभापति खब्बू तिवारी ने मतदान किया था।

टैग: आजम खान, द्वेषपूर्ण भाषण



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.