इंडियन ओवरसीज बैंक: जमा 2,60,045 करोड़ रुपये से बढ़कर 2,61,728 करोड़ रुपये हो गया।

चेन्नई:

बैंक ने रविवार को कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक ने 30 सितंबर, 2022 को समाप्त दूसरी तिमाही में अपने शुद्ध लाभ में 33.2 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 501 करोड़ रुपये की छलांग लगाई है।

चेन्नई मुख्यालय वाले बैंक ने पिछले साल इसी अवधि के दौरान 376 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया था।

30 सितंबर, 2022 को समाप्त छमाही के लिए शुद्ध लाभ पिछले साल के 703 करोड़ रुपये से बढ़कर 893 करोड़ रुपये हो गया।

30 सितंबर, 2022 को समाप्त तिमाही के दौरान कुल आय 30 जून, 2022 तक दर्ज 5,028 करोड़ रुपये से बढ़कर 5,852.45 करोड़ रुपये हो गई। कुल कारोबार 4,23,589 करोड़ रुपये के मुकाबले 4,34,441 करोड़ रुपये रहा।

जमा राशि 2,60,045 करोड़ रुपये से बढ़कर 2,61,728 करोड़ रुपये हो गई।

बैंक ने कहा कि शुद्ध गैर-निष्पादित संपत्ति (एनपीए) अनुपात 30 सितंबर, 2022 को 2.56 प्रतिशत था, जबकि 30 सितंबर, 2021 को 2.77 प्रतिशत पंजीकृत था।

समीक्षाधीन तिमाही के दौरान सकल एनपीए 43 करोड़ रुपये कम हुआ। बैंक ने कहा, “जीएनपीए (सकल एनपीए) अनुपात 30 जून, 2022 को 10.66 प्रतिशत से बढ़कर 8.53 प्रतिशत (30,2022 सितंबर तक) हो गया।”

समीक्षाधीन तिमाही के दौरान ब्याज आय 4,717.61 करोड़ रुपये रही, जो पिछले साल 4,255 करोड़ रुपये दर्ज की गई थी।

बैंक ने कहा कि सितंबर 2022 की अवधि के लिए कुल नकद वसूली 494 करोड़ रुपये थी, जबकि जून 2022 में 479 करोड़ रुपये दर्ज की गई थी।

(शीर्षक को छोड़कर, इस कहानी को NDTV के कर्मचारियों द्वारा संपादित नहीं किया गया है और एक सिंडिकेटेड फ़ीड से प्रकाशित किया गया है।)

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

जोखिम-रहित दांव पर डॉलर के मुकाबले रुपया गिरकर 82.90 पर; भारतीय रिजर्व बैंक की आंखें



Source link

By RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published.